Home>>Breaking News>>“उभरते सितारे फंड” के मार्फ़त, अब उबारने की कोशिश में वित्त्र मंत्री निर्मला सीतारमण
Breaking Newsउत्तर प्रदेशताज़ाबिजनेसराष्ट्रिय

“उभरते सितारे फंड” के मार्फ़त, अब उबारने की कोशिश में वित्त्र मंत्री निर्मला सीतारमण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, शनिवार 21 अगस्त 2021 को “उभरते सितारे फंड (Ubharte Sitare Fund) “ की शुरुआत कर,  निर्यात उन्मुख छोटी और मध्यम आकार की कंपनियों को उबारने का प्रयास करेंगी. यह फंड एक्ज़िम बैंक (Exim Bank) और सिडबी (SIDBI) द्वारा संयुक्त रूप से प्रायोजित किया जा रहा है. इस संबंध में औपचारिक घोषणा, लखनऊ में शनिवार को सीतारमण करेंगी.


वित्त मंत्री सीतारमण ने पिछले साल अपने बजट भाषण में कहा था कि सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम अर्थव्यवस्था में गति बनाए रखने के लिए महत्त्वपूर्ण हैं. इन से लोगों को रोजगार मिलता है, ये इनोवेशन करते हैं और जोखिम भी उठाते हैं.

एक्ज़िम बैंक के “उभरते सितारे कार्यक्रम (यूएसपी)” में ऐसी भारतीय कंपनियों को चिह्नित किया जाता है, जिनमें आने वाले कल का चैंपियन बनने और वैश्विक मांगों के अनुरूप उत्पादन करने की संभावनाएं रहती हैं. इस कार्यक्रम के अंतर्गत उन भारतीय कंपनियों को चिह्नित किया जाता है, जो तकनीकी, उत्पादकता प्रोसेस की दृष्टि से बेहतर स्थिति में हैं. इस कार्यक्रम के अंतर्गत चिह्नित उद्यमों की बाधाओं का पता लगाकर उन्हें उनकी वृद्धि और निर्यात रणनीतियां बनाने में सहयोग प्रदान किया जाता है. यह सहायता इक्विटी, ऋण तथा तकनीकी सहयोग के रूप में वित्तीय और सलाहकारी सेवाएं, दोनों प्रकार से प्रदान की जाती है.

निर्यात उन्मुख छोटी और मध्यम आकार की कंपनियों को आर्थिक संबल प्रदान करने के लिए एक वैकल्पिक निवेश फंड बनाया गया है, जिसे “उभरते सितारे फंड” का नाम दिया गया है. यह इंडिया एक्ज़िम बैंक और सिडबी द्वारा 40-40 करोड़ रुपये के अंशदान से संयुक्त रूप से प्रायोजित है. इसके अंतर्गत 100 से अधिक संभावित प्रस्तावों की पाइपलाइन तैयार की गई है. ये कंपनियां जो फार्मा, ऑटो पुर्जे, इंजीनियरिंग सॉल्यूशन, कृषि और सॉफ्टवेयर आदि जैसे विभिन्न क्षेत्रों से संबंधित हैं. एक्ज़िम बैंक ने पात्र कंपनियों को सहयोग प्रदान करने के लिए सिडबी के साथ मिलकर आईआईटी, आईआईएससी बैंगलोर और आईआईएम जैसी शैक्षणिक संस्थाओं सहित देशभर में विभिन्न संस्थाओं के साथ मिलकर काम किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *