Home>>Breaking News>>PF मामले में केन्द्रीय वित्तमंत्री सीतारमण ने दी बड़ी राहत, कोरोना काल में बेरोजगार हुए लोगों का PF खुद भरेगी सरकार
Breaking Newsउत्तर प्रदेशताज़ाराष्ट्रिय

PF मामले में केन्द्रीय वित्तमंत्री सीतारमण ने दी बड़ी राहत, कोरोना काल में बेरोजगार हुए लोगों का PF खुद भरेगी सरकार

देश में कोरोना महामारी के कारण कई व्यवसायिक प्रतिष्ठान बंद हुए या फिर घाटे में होने के कारण, कई कर्मचारी बेरोजगार हो गए. ऐसे में इन कर्मचारियों के PF का मामला जटिल हो गया. लेकिन कोरोना महामारी के कारण नौकरी गंवाने वाले लोगों के लिए अच्छी खबर है. कोरोना काल में जिन कर्मचारियों की नौकरी चली गई है, उनके पीएफ का भुगतान 2022 तक केंद्र सरकार करेगी. वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने आज शनिवार को यह घोषणा की. लेकिन इस सुविधा का लाभ उन्हीं यूनिट्स को मिलेगा जिनका EPFO में रजिस्ट्रेशन होगा.

वित्तमंत्री सीतारमण ने यूपी की राजधानी लखनऊ में आज एक कार्यक्रम में कहा कि केंद्र सरकार उन लोगों के लिए 2022 तक नियोक्ता के साथ-साथ कर्मचारी के पीएफ हिस्से का भुगतान करेगी, जिन्होंने अपनी नौकरी खो दीं, लेकिन उन्हें औपचारिक क्षेत्र में छोटे पैमाने की नौकरियों में काम करने के लिए फिर से बुलाया गया है. इन इकाइयों का ईपीएफओ में पंजीकरण होने पर ही कर्मचारियों को यह सुविधा दी जाएगी.

वित्तमंत्री सीतारमण ने यह भी कहा कि यदि किसी जिले में औपचारिक क्षेत्र में काम करने वाले 25 हजार से ज्यादा प्रवासी मजदूर अपने मूल शहर लौटे हैं तो उन्हें केंद्र सरकार की 16 योजनाओं में रोजगार दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि कोरोना के कारण 2020 में मनरेगा का बजट 60000 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 1 लाख करोड़ रुपये कर दिया गया था.
 
वित्तमंत्री सीतारमण ने कहा कि देश की इकॉनमी की रीढ़ यानी सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्योगों (MSME) को दशकों तक जो स्थान नहीं मिला, इस सरकार ने दिलाया है. मोदी सरकार ने एमएसएमई को उसकी वाजिब पहचान दी है. इस क्षेत्र को दशकों तक जो स्थान नहीं मिला वह अब उसे दिलाया जा रहा है और आगे भी इसे और बेहतर बनाया जाएगा. उन्होंने कहा कि पिछले दो सालों को देखें तो केंद्र सरकार ने काफी अलग चीजें की हैं. सरकार ने एमएसएमई की परिभाषा को बहुत लचीले तरीके से बदला है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *