Home>>Breaking News>>सत्या माइक्रोकैपिटल लिमिटेड ने ग्रामीण बच्चों की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए शुरू किया “सत्य शिक्षा अभियान”
Breaking Newsटैकनोलजीताज़ाबिजनेसराशिफलशिक्षा

सत्या माइक्रोकैपिटल लिमिटेड ने ग्रामीण बच्चों की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए शुरू किया “सत्य शिक्षा अभियान”

भारत की अग्रणी माइक्रोफाइनेंस कम्पनी, सत्या माइक्रोकैपिटल लिमिटेड (एनबीएफसी-एमएफआई) ने 24 नवम्बर 2021 को नई दिल्ली में एक कार्यक्रम के माध्यम से यह घोषणा किया कि LectureDekho.Com नाम की ऑनलाइन शैक्षिक सेवा देने वाले डिजिटल प्लेटफॉर्म के सहयोग से, एक डिजिटल शिक्षण अभियान-“सत्य शिक्षा अभियान“ का शुभारम्भ किया।

सत्य शिक्षा अभियान का पायलट प्रोजेक्ट, वर्तमान से 31 मार्च 2022 तक यानि शैक्षणिक सत्र 2021-2022 के अंत तक प्रभावी रहेगा। इस अभियान का उद्देश्य, ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले एवं कक्षा 6 से कक्षा 10 में पढ़ने वाले 25 हजार से अधिक बच्चों को शैक्षणिक सुविधा उपलब्ध कराना है। इस सुविधा के तहत, इंटरनेट के द्वारा ग्रामीण बच्चों को LectureDekho.Com के माध्यम से शैक्षणिक सामग्री कहीं भी, कभी भी उपलब्ध हो सकती है। इस अभियान के माध्यम से, 21 राज्यों के ग्रामीण क्षेत्रों के बच्चों को, डिजिटल शैक्षणिक सामग्री मुफ्त में मिलेगी और इससे डिजिटल लर्निंग की व्यापकता भी बढ़ेगी।  

इस अभियान के तहत डिजिटल लर्निंग के द्वारा ग्रामीण छात्रों को लाईव कक्षाओं के माध्यम से अध्ययन करने का मौका मिलेगा। इसके तहत डाउनलोड करने योग्य विडियो के साथ-साथ संबन्धित हाईपरलिंक और वेब लिंक तक पहुँचने के विकल्प भी मिलेंगे। उच्च गुणवत्ता वाले रेकॉर्ड किए गए लाईव क्लासेज, प्रतिदिन के लिए रिविज़न एवं टेस्ट, विस्तृत नोट्स, सामान्य ज्ञान बढ़ाने पर जोर, अभिभावकों के लिए लाईव ट्रैकिंग एसेस्मेंट सिस्टम भी उपलब्ध होंगे। साथ ही बच्चों को मेरिट के आधार पर छात्रवृत्ति के अवसर भी उपलब्ध होंगे। अनुभवी एवं योग्य शिक्षकों के वृहद नेटवर्क के माध्यम से बच्चों को गुणवत्तापूर्ण मार्गदर्शन एवं कैरियर परामर्श भी उपलब्ध होंगे। अध्ययन सामग्री को किसी भी मोबाइल, टैबलेट या लैपटॉप से प्राप्त किया जा सकेगा।   

सत्य शिक्षा अभियान के बारे में, सत्या माइक्रोकैपिटल लिमिटेड के एमडी, सीआईओ और सीईओ, विवेक तिवारी ने कहा-“कोविड-19 महामारी के कारण हमारे देश में करोड़ों बच्चों की शिक्षा बाधित हुयी। सत्या और LectureDekho की इस साझेदारी से, डिजिटल शिक्षा को बढ़ावा मिलेगा और बच्चों की शिक्षा को फिर से सामान्य तौर पर जारी रखना संभव हो सकेगा। हमने ग्रामीण बच्चों द्वारा शिक्षा के दौरान हो रही कठिनाईयों को ध्यान में रखते हुए इस अभियान को शुरू करने का निर्णय लिया है। हमसभी इस अभियान को युवा सशक्तिकरण की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम मानते हैं और हम आशा करते हैं कि लाभार्थी छात्र इस अवसर का लाभ उठाते हुए पूरी जिम्मेवारी के साथ अपने शैक्षणिक प्रयासों को बेहतरकरेंगे।”

यह अभियान बच्चों को तकनीकी सुविधाओं के साथ गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त करने के दृष्टिकोण के साथ तैयार किया गया है, जो कि सस्ती भी है और साथ ही सामाजिक एवं शैक्षणिक ज्ञान के माध्यम से उनके भविष्य को बेहतर करने के योग्य भी है।

इस अभियान के माध्यम से छात्रों को कई तरह के लाभ मिलेंगे, उन्हें बेहतर शैक्षणिक परिणाम हासिल करने में सुविधा मिलेगी, सामान्य ज्ञान को प्राप्त करने के प्रति रुचि बढ़ेगी, रचनात्मक सोच और समझ में विकास होगा, अँग्रेजी बोलने में सुविधा एवं सुधार होगा, व्यक्तित्व विकास में सहयोग मिलेगा, प्रतियोगी परीक्षाओं कि तैयारी में सहूलियत मिलेगी और समग्र दृष्टिकोण से उनका कौशल विकास हो सकेगा।

इसके अलावा, विवेक तिवारी ने इस पहल की भी सराहना की, जो 6 लाख से अधिक परिवारों को ऋण की सुविधा प्रदान करने में एक कदम आगे है। उन्होने सत्या द्वारा देश में शिक्षा के एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए अतिरिक्त एवं गुणवत्तापूर्ण प्रयास करने पर प्रसन्नता व्यक्त की। समाज में एक जिम्मेवार भागीदार होने के नाते, सत्या अपने ग्राहकों के बच्चों के शैक्षणिक विकास में क्रांतिकारी एवं बहुलाभकारी परिवर्तन लाने के लिए, उत्साहपूर्वक काम कर रहा है। सत्य शिक्षा अभियान का यह कदम ग्रामीण क्षेत्रों में युवाओं के सुनिश्चित रोजगार की संभावनाओं को भी आगे बढ़ाएगा क्योंकि शैक्षणिक योग्यता जितनी अधिक एवं गुणवत्तापूर्ण होगी, बेरोजगार होने का जोखिम उतना ही कम होगा।

सत्या माइक्रो कैपिटल लिमिटेड एक माइक्रोफाइनेंस कम्पनी है जो समाज के आर्थिकरूप से वंचित एवं उपेक्षित वर्ग को स्वरोजगार हेतु आर्थिक सहायता प्रदान करती है। 5 वर्ष के सुनहरे और सफलतम सफ़र को पूरा करते हुए इस कम्पनी ने देश भर के 21 राज्यों के 25 हजार गावों तक अपनी पहुँच बनाया है और 6 लाख से अधिक लोगों को स्वरोजगार हेतु आर्थिक सहायता प्रदान की जा चुकी है। कम्पनी के एमडी, सीआईओ और सीईओ, विवेक तिवारी का लक्ष्य है कि सत्या माइक्रोकैपिटल लिमिटेड के द्वारा, वर्ष 2025 तक इस देश के 50 लाख ऐसे लोगों को स्वरोजगार हेतु आर्थिक सहायता उपलब्ध करायी जा सके, जो समाज में आर्थिकरूप से वंचित एवं उपेक्षित हैं. इस बड़े सोच के साथ, कम्पनी तेजी से लक्ष्य को प्राप्त करने हेतु अभी से ही अग्रसर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *