Home>>Breaking News>>Youtube पर PM मोदी के हुए 1 करोड़ से ज्यादा सब्सक्राइबर
Breaking Newsताज़ाराष्ट्रिय

Youtube पर PM मोदी के हुए 1 करोड़ से ज्यादा सब्सक्राइबर

PM मोदी भारत के एक शक्तिशाली और प्रभावशाली नेता है जिन्हें एक राजनेता के तौर पर काफी पसंद किया जाता है। आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव रहते हैं। पीएम मोदी मन की बात करने के लिए लाइव भी आते हैं जिससे लाखों की संख्या में लोग जुड़ते हैं और उनकी बात सुनते हैं। आपको बता दें कि प्रधानमंत्री की लोकप्रियता सोशल मीडिया पर अब तेजी से बढ़ती जा रही है। अगर आपको इस बात पर कोई शक है तो आप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यूट्यूब चैनल चेक कर सकते हैं जिस पर सब्सक्राइबर की संख्या एक करोड़ के पार पहुंचने वाली है। उनसे जुड़ी हुई अपडेट जानने के लिए अब लोग तेजी से उनके साथ यूट्यूब पर जोड़ रहे हैं। राजनेता के तौर पर उनके इतने फॉलोअर्स होना कोई बड़ी बात नहीं है लेकिन यूट्यूब पर इतने ज्यादा फॉलोअर्स देख कर किसी का भी सिर चकरा जाएगा।

अगर आप चाहें तो आप भी इनके यूट्यूब चैनल से इस लिंक https://www.youtube.com/c/NarendraModi/about के माध्यम से जुड़ सकते हैं, चैनल को सब्सक्राईब कर सकते हैं।

पीएम मोदी के यूट्यूब चैनल पर आपको ढेरों वीडियो देखने को मिल जाएंगे। यह वीडियो प्रधानमंत्री के संबोधन से जुड़े हुए होते हैं या फिर उनकी यात्राओं से जुड़े होते हैं। वीडियो में प्रधानमंत्री जनता से रूबरू होते हुए भी दिखाई देते हैं। यूट्यूब पर अपलोड होने वाले यह वीडियो काफी पसंद किए जाते हैं और जमकर इन्हें शेयर भी किया जाता है यही वजह है कि लगातार लोग प्रधानमंत्री के अकाउंट से जुड़ते जा रहे हैं।

आपको बता दें कि यूट्यूब चैनल पर एक करोड़ से ज्यादा फॉलोअर्स वाले क्रिएटर्स आमतौर पर 10 लाख से 20 लाख रुपए तक कमाते हैं। पीएम मोदी के भी इतने ही सब्सक्राइबर्स है ऐसे में कमाई की रकम तकरीबन यही होती होगी ऐसा अंदाजा लगाया जा सकता है हालांकि असलियत में इस चैनल से कितनी कमाई होती है इस बारे में हमें कोई भी जानकारी नहीं है। अगर इस चैनल से ज्यादा कमाई होती है तो जाहिर तौर पर उसे देश के विकास में इस्तेमाल किया जाता होगा क्योंकि प्राप्त जानकारी के अनुसार, PM मोदी अपने वेतन को जन-हित फंड में जमा करा देते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *