Home>>Breaking News>>SmartGaon ने शुरू किया गांवों को SMART बनाने का अभियान
Breaking Newsटैकनोलजीताज़ाराष्ट्रिय

SmartGaon ने शुरू किया गांवों को SMART बनाने का अभियान

SmartGaon की स्थापना यूपी के रायबरेली स्थित दो युवा आईटी प्रोफेशनल युवा रजनीश वाजपेयी और योगेश साहू ने की PM मोदी के अपील को स्वीकारते हुए की …. PM मोदी ने “मन की बात” कार्यक्रम में इनदोनों युवाओं के बारे में क्या कहा … इस विडियो में देखें.

https://www.youtube.com/watch?v=VXsLTdj5Lpg&t=115s

विगत 15 मई 2022 को लखनऊ के ताज होटल स्थित UPDF के तत्वाधान में आयोजित कार्यक्रम “मातृभूमि वंदन” में SmartGaon के संस्थापक योगेश साहू से मेरी मुलाक़ात हुयी. काफी लम्बी बातचीत के दौरान उन्होंने जो बताया, वो एक तरह से SmartGaon के माध्यम से इस देश में डिजिटल क्रान्ति लाने जैसा प्रयास ही कहा जाएगा. देश के कई गाँव में यह क्रान्ति आ चुकी है और संभव है कि जल्द ही योगी सरकार के सहयोग से करीब 100 से अधिक गांवों में इस डिजिटल क्रान्ति को पहुंचाया जाएगा.

इस अभियान के तहत गांवों का चयन किया जाता है, चयनित गांव का सर्वे कराया जाता है, गाँव की शिक्षा, स्वच्छता, स्वास्थ्य, यातायात, इंफ्रास्ट्रक्चर, कृषि उत्पाद, सुरक्षा, रहन-सहन, आर्थिक निर्भरता इत्यादि से जुड़े मुद्दे के आंकड़े जुटाए जाते हैं. उसके बाद शुरू होती है वृहद् प्लानिंग कि इस गाँव को SMART बनाने के लिए क्या करना है, कैसे करना है …. प्लानिंग का क्रियान्वयन होता है और स्मार्ट-गाँव की फेहरिश्त में एक गाँव और शामिल हो जाता है ……. बड़ी और अहम् बात ये है कि एक गांव को स्मार्ट बनाने के बाद, इनका काम यहीं नहीं रुक जाता …. ये दुसरे गांव को स्मार्ट बनाने की प्रक्रिया शुरू करते हैं लेकिन जिस गाँव को पहले स्मार्ट बना चुके हैं, उसकी स्मार्टनेस कायम रहे, इसके सन्दर्भ में भी अपनी विस्तृत टीम के माध्यम से निरंतर प्रयास जारी रखते हैं.

यूपी के रहने वाले ऐसे लोग जो विदेशों में काम कर रहे हैं, उनलोगों से “मातृभूमि वंदन” कार्यक्रम में मिलकर बहुत कुछ जानकारी मिली …. ये लोग अपने मातृभूमि “यूपी” के विकास लिए अपने सृजनात्मक विचार, अपने अथक प्रयास और पैसा खर्च कर रहे हैं. ये वो लोग हैं जो सरकार के भरोसे पर काम नहीं शुरू करते, बल्कि अपने मातृभूमि के प्रति अपने उत्कट भावनाओं के कारण काम करते हैं. यही कारण है कि उत्तरप्रदेश को “उत्तम प्रदेश” बनाने कि जो कवायद चल रही है, उसमें इन युवाओं का भी बड़ा योगदान है, जो प्रत्यक्ष रूप से सामने तो नहीं दिखते लेकिन इनके “काम” लोगों के सामने प्रत्यक्ष रूप से जरुर दिख रहे हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *